3 Golden Rules of Accounting in Hindi 3 सुनहरे नियम PDF Download Free

Accounting जिसे हिंदी में लेखांकन कहा जाता है, एकाउंटिंग कार्य करने से पहले हमें इसके 3 Golden Rules of Accounting in Hindi की जानकारी होना बहुत ही जरूरी है क्योंकि इन्हीं नियमों की माध्यम से हम अपने business में होने वाले Financial Transaction की पहचान कर Account Create करके संबंधित Account Group, Journal Books एंट्री करना होता है.

दोस्तों अगर आपको Accounting Job करना है तो सबसे पहले आपको 3 एकाउंटिंग के गोल्डन रूल्स के बारे में जानकारी प्राप्त करना बहुत ज्यादा आवश्यक है, अगर आप लेखांकन के 3 सुनहरे नियम Expert हो जाएंगे तो आप आसानी से Accounting Job Tally के माध्यम से कर सकते हैं.

लेकिन दोस्तों आपको 3 Golden Rules of Accounting in Hindi सीखने से पहले एकाउंटिंग क्या होता है? और एकाउंटिंग उपयोग होने वाले शब्दावली (Basic Accounting Terms) की जानकारी होना बहुत आवश्यक है क्योंकि कॉमर्स बिजनेस कि दुनिया में अलग-अलग शब्दों का उपयोग होता है जैसे – Debtor, Creditor, Stock Items, Goods, Assets, Proprietor, Capital, Finance इत्यादि.

और आपको अंत में 3 Golden Rules of Accounting pdf download करने का मौका भी मिलेगा.

Important Note - Dear Reader आप पुरे Notes को ध्यान से पढ़े क्योकि इस आर्टिकल के अंत में आपको Online Test देना है, आपके लिए Golden Rules of Accounting in Hindi से सम्बंधित Online Objective Exam देना होगा.
Golden Rules of Accounting in Hindi
3 Golden Rules of Accounting in Hindi

3 Golden Rules of Accounting in Hindi

3 Golden Rules of Accounting को हिंदी में लेखांकन के सुनहरे नियम कहा जाता है, जिसमें तीन प्रकार के अकाउंट होते हैं जैसे व्यक्तिगत खाता, वास्तविक खाता और आय-व्यय खाता, इन एकाउंट्स में डेबिट और क्रेडिट करने के विशेष नियम होते हैं जिन्हें Golden Rules of Accounting कहते हैं.

Example के लिए व्यक्तिगत खाता में Receiver (पाने वाला) अकाउंट को Debit किया जाता है उसी प्रकार Giver (देने वाला) अकाउंट को Credit किया जाता है.

वास्तविक खाता में What’s Come in (जो आता है ) उस अकाउंट को Debit किया जाता है उसी प्रकार What’s Goes in (जो जाता है ) उस अकाउंट को Credit किया जाता है.

आय-व्यय खाता में All Expenses & Losses (सभी व्यय और हानि) उस अकाउंट को Debit किया जाता है उसी प्रकार All Income & Gains (सभी आय और लाभ) उस अकाउंट को Credit किया जाता है.

Golden RulesPersonal AccountReal AccountNominal Account
DebitReceiver Whats Come InAll Expenses & Loss
CreditGiverWhats Goes OutAll Income & Gains
3 Golden Rules of Accounting in Hindi

3 Golden Rules of Accounting क्या है?

Financial Transaction को रिकॉर्ड करने के लिए Accounting में Account के Nature अनुसार Rules बनाया गया है जिसमे account में होने प्रभाव के अनुसार Debit और Credit करने के नियम है, जिसमे एक साथ दो account पर effect होता है.

जैसे 5000 रूपये Bank of Baroda में जमा किया इसमे दो account बनेगा Cash Account और Bank of Baroda Account, यहाँ पर Bank of Baroda Account Receiver इसलिए Debit होगा और Cash Account Giver है इसलिए Credit होगा.

Golden Rules of Accounting in Hindi
3 Golden Rules of Accounting in Hindi

Types of Accounts in 3 Golden Rules of Accounting in Hindi

मुख्य रूप से Accenting में तीन प्रकार के Account या खाते होते है –

  1. Personal Account
  2. Real Account
  3. Nominal Account

Personal Account क्या है?

Personal Account जिसे हिंदी में व्यक्तिगत खाता के नाम से जाना जाता है, इस प्रकार के account में किसी व्यक्ति से सम्बंधित होता है और इस खाते का एकाधिकार होता है Personal Account कहलाता है, जैसे – Ram A/c, Ramesh A/c, Laxmi A/c.

Types of Personal Account

  1. Natural Personal Account
    • Ram A/c.
    • Kishan A/c.
    • Trisha A/c
    • Any Person Account
    • Capital A/c (Business के Owner का Account)
    • Bank Overdraft Account (बैंक अधिविकर्ष खाता)
    • Drawing Account.
  2. Artificial Personal Account
    • Any Company / Business Account.
    • Govt. Department A/c.
    • School, College, Any Educational Institute A/c.
    • Insurance Company A/c.
    • Charitable Trust A/c.
    • Bank A/c.
    • Partnership Firm A/c
    • Non – Government Organization A/c.
    • Social Organization A/c.
  3. Representative Personal Account
    • Prepaid Expenses A/c (पूर्वदत्त व्यय) Example – Prepaid Salary A/c, Prepaid Rent A/c, Prepaid Wages A/c.
    • Outstanding Expenses A/c (अदत्त व्यय) Example – Outstanding Salary A/c, Outstanding Rent A/c, Outstanding Wages A/c.
    • Accrued interest A/c (उपार्जित ब्याज खाता)
    • Unearned Rent A/c (अनुउपार्जित किराया खाता)
    • Outstanding Premium A/c (अदत्त प्रीमियम खाता)

Golden Rules Of Personal Account

Types of AccountGolden Rules
Receiver (पाने वाला)Debit (Dr.)
Giver (देने वाला)Credit (Cr.)
Golden Rules of Personal Account

Example – Ramesh ने मोहन को 100 रूपये दिए.

इस example में Ramesh और मोहन के बीच लेनदेन हो रहा है, दोनों व्यक्ति है और खाते का हक़दार वह अकेले है, इस प्रकार यह व्यक्तिगत खाता के वर्ग में आएगा.

उपरोक्त उदाहरण में मोहन पाने वाला है और रमेश देने वाला है, इस प्रकार इसका voucher entry इस प्रकार होगा –

Golden Rules of Accounting in Hindi : Voucher entry in Tally / journal entry in एकाउंटिंग

DateParticularL.F.Debit Amt.Credit Amt.
01-02-2023Mohan A/c100
To Ramesh A/c100
Example : Golden Rules of Personals Account

Real Account क्या है?

Real Account जिसे हिंदी में वास्तविक खाता के नाम से जाना जाता है, यह व्यापार की सम्पत्ति से सम्बंधित होता है, Real Account कहलाता है, जैसे – Purchase A/c, Sales A/c, Fixed Assets A/c इत्यादि.

Types of Real Account

  • Tangible accounts. (मूर्त खाता)
  • Intangible accounts. (अमूर्त खाता)
Tangible accounts. (मूर्त खाता)

Tangible खाता जिसे हिंदी में हम मूर्त खाता के नाम से जानते है, ये खाते व्यापार के सम्पति से जिसे छु या देख सकते है मूर्त खाता के नाम से जाना जाता है. for example – Building A/c, Cash A/c, Goods A/c इत्यादि.

Intangible accounts. (अमूर्त खाता)

Tangible Account जिसे हिंदी में हम अमूर्त खाता के नाम से जानते है, ये खाते व्यापार के सम्पति से जिसे छु या देख नही सकते है अमूर्त खाता के नाम से जाना जाता है. for example – Goodwill, Patent, Copyright, Trademark इत्यादि.

Real account (वास्तविक खाता) के Golden Rules

Types of AccountGolden Rules
What’s Come in (जो आता है )Debit (Dr.)
What’s Goes in (जो जाता है )Credit (Cr.)
Golden Rules of Real Account

Example – श्री तृषा कंप्यूटर से लखन ट्रेडर्स 15000 रूपये का computer system ख़रीदा.

लखन ट्रेडर्स इस example में श्री तृषा कंप्यूटर से computer system ख़रीदा जा रहा है, उपरोक्त उदाहरण में computer system हमें प्राप्त हो रहा है जो की मूर्त सम्पत्ति है और नगद रूपये जा रहा है या भी मूर्त सम्पत्ति, इसलिए इसका voucher entry इस प्रकार होगा –

Voucher entry in Tally / journal entry in एकाउंटिंग

DateParticularDebit AmountCredit Amount
01-04-2023Computer System A/c1500
To Cash A/c1500
Example : Golden Rules of Real Account

Nominal Account क्या है?

Nominal Account जिसे हिंदी में आय-व्यय खाता के नाम से जाना जाता है, इस प्रकार के account में किसी Income – Expenses Account से सम्बंधित होता है, Nominal Account कहलाता है, जैसे Rent A/c, commission received A/c, salary A/c, wages A/c, conveyance A/c, इत्यादि.

Nominal account (आय-व्यय खाता) के Golden Rules of Accounting in Hindi

Types of AccountGolden Rules
All Expenses & Losses (सभी व्यय और हानि)Debit (Dr.)
All Income & Gains (सभी आय और लाभ)Credit (Cr.)
Nominal account (आय-व्यय खाता) के Golden Rules

Example – बिजली बिल के 1000 रूपये दिए.

इस example में बिजली बिल भुगतान लेनदेन हो रहा है और एक Electricity Bill account जो की Expenses जो Nominal account है इसी प्रकार cash account Real account है. इस प्रकार इसका voucher entry इस प्रकार होगा –

Voucher entry in Tally | Jouranl Entry in Accounting

DateParticularL.F.DebitCredit
04-04-2023Electricity Bill A/c1000
To Cash A/c1000
Example : Golden Rules of Nominal Account

3 Golden Rules of Accounting in Hindi With Examples

निम्नलिखित व्यवहारों को श्री राम कम्पयूटर्स की पुस्तक में नकल प्रविष्टियां (Journal Entry) करिये –
(1) नगद धन 18,000 रू व्यापार प्रारंभ कियां।
(2) Color Printer खरीदा 10 नग, पर नग रेट – 8000 रूपये।
(3) रमेश को एक Color Printer 10000 में बेचा।
(4) एक Color Printer 10000 में बेचा।
(5) रमेश से 10000 रूपये प्राप्त हुआ।
(6) एच पी कम्पनी से ब्लैक एंड व्हाइट 10 प्रिंटर 7500 प्रति नग से खरीदा।
(7) एच पी कम्पनी को Payment किया।

Journal Entry of Shri Ram Computers or Voucher Entry of Financial Transaction

Q. No.ParticularsL.F.Debit Amt.Credit Amt.Voucher Entry
1Cash A/c Dr.18000Receipt Voucher
To. Capital A/c1800
2Purchase Ac Dr.80000Purchase Voucher
To Cash A/c80000
3Ramesh A/c Dr.10000Sales Voucher
To Sales A/c10000
4Cash A/c Dr.10000Sales Voucher
To Sales 10000
5Cash A/c Dr.10000Receipt Voucher
To Ramesh A/c10000
6Purchase A/c Dr.
(B/W Printer 10*7500)
75000Purchase Voucher
To Hp Company75000
7HP Company Dr.75000Payment Voucher
To Cash Ac/c75000
Golden Rules of Accounting in Hindi

Quiz : 3 Golden Rules of Accounting in Hindi Online Test

प्रिय दोस्तों आप लोगो को इस 3 Golden Rules of Accounting in HindiTally Online Test in Hindi,  Tally Mock Test Questions and Answers  में एक प्रश्न के चार विकल्प प्राप्त होंगे, उनमे से आपको केवल ही विकल्प को सेलेक्ट करना है और इस प्रकार सभी Questions का Answer देने के बाद आपको निचे की और दिए Submit बटन को क्लिक करना है

Welcome to your Golden Rules of Accounting in Hindi

1. 
Accounting में Accounts मुख्य रूप कितने प्रकार के होते है?

2. 
Bank A/c किस प्रकार का Account है?

3. 
Rent A/c किस प्रकार का खाता है?

4. 
Electricity Bill के 1000 रूपये दिए, इसमे Electricity Bill A/c क्या होगा?

5. 
CG Market Guru a/c किस प्रकार का खाता है?

6. 
Purchase A/c किस प्रकार का खाता है?

7. 
Elon Musk को 1000 रूपये दिए, इसमे Cash A/c क्या होगा?

8. 
Receiver (पाने वाला) Debit (Dr.) और Giver (देने वाला) Credit (Cr.) कौन से Account का Golden Rules है.

9. 
What's Come in (जो आता है ) Debit (Dr.) औरWhat's Goes in (जो जाता है ) Credit (Cr.) कौन से Account का Golden Rules है.

10. 
All Expenses & Losses Debit (Dr.) और All Income & Gains Credit (Cr.) कौन से Account का Golden Rules है.

Golden Rules of Accounting pdf Download

golden rules of accounting pdf download now

Conclusion

Hello Students / Readers आज हमने 3 Golden Rules of Accounting in Hindi के बारे में जानकारी प्राप्त किया है, गोल्डन रूल्स आफ अकाउंटिंग देखा जाए तो एकाउंटिंग का दिल है इसलिए आपको इसको अच्छी तरह से समझ लेना चाहिए, हम आपको ऊपर समझाने की कोशिश उदाहरण के साथ किए हैं अगर दिए गए उदाहरण या कहीं भी समझने में समस्या है तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं.

याद रखें 3 Golden Rules of Accounting in Hindi With Examples को पढ़ने से आपको Tally के बेसिक शब्दावली (Basic Terminology) को जानना अनिवार्य है.

>> Tally Basic Terminology – बेसिक शब्दावली.

एकाउंटिंग के Golden Rules क्या है?

Accounting में Account के Nature अनुसार Rules बनाया गया है जिसमे account में होने प्रभाव के अनुसार Debit और Credit करने के नियम है, जिसमे एक साथ दो account पर effect होता है.

खातों के 3 सुनहरे नियम क्या हैं?

1. व्यक्तिगत खाता में Receiver (पाने वाला) अकाउंट को Debit किया जाता है उसी प्रकार Giver (देने वाला) अकाउंट को Credit किया जाता है.
2. वास्तविक खाता में What’s Come in (जो आता है ) उस अकाउंट को Debit किया जाता है उसी प्रकारWhat’s Goes in (जो जाता है ) उस अकाउंट को Credit किया जाता है.
3. आय-व्यय खाता में All Expenses & Losses (सभी व्यय और हानि) उस अकाउंट को Debit किया जाता है उसी प्रकार All Income & Gains (सभी आय और लाभ) उस अकाउंट को Credit किया जाता है.


एकाउंटिंग को हिंदी में क्या कहते हैं?

एकाउंटिंग को हिंदी में लेखांकन कहते हैं?
Join our Telegram Channel for latest Notes / Information - Join Now

Read More :-

>> Tally Full Course in Hindi : Tally ERP 9

>> MS Excel Full Course in Hindi

>> Tally Accounting Basic Terms

>> Tally ERP 9

>> Tally Prime

Tally Full Course in hindi : 3 Golden Rules of Accounting in Hindi
S.No.Subject / Topic (Tally Full Course in Hindi)
1Tally क्या है टैली के विभिन version?
What is tally and Version of Tally?
3Downloading and Installation of Tally ERP 9 Notes
Tally Full Form क्या है?
4Basic Accounting Terms – Tally ERP 9
5How to Create Company in Tally ERP 9 Notes
Delete Company, Alter Company और Select Company
6What is Ledger and how to create in tally Tally ERP 9 Notes?
>> टैली में स्टॉक आइटम कैसे बनाएं
√ टैली में स्टॉक केटेगरी कैसे बनाएं
 टैली में यूनिट कैसे बनाएं|
7टैली में ledger group क्या है एवं टैली में group कैसे तैयार करे सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में.
8Mode of Accounting – Tally ERP 9 Notes / Prime (Tally Full Course in hindi)
9Basic Accounting – Personal A/C, Real A/c, Nominal A/c
10Golden Rules of Accounting – Basic Accouting की सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में.
11Accounting Vouchers in Tally ERP 9 Notes
>>Contra Entry in Tally
>>Receipt Voucher Entry in Tally
>>Payment Voucher Entry in Tally
>>Journal Voucher Entry in Tally
>>Purchase Voucher Entry in Tally with GST
>>Sales Entry in Tally with GST
>>Debit Note Entry in Tally with GST
>>Credit Note Entry in Tally with GST
12Inventory Voucher – Tally ERP 9 Notes
13Golden Rules of Voucher Entry
14Stock Management  or Inventory Management – Tally ERP 9 Notes
15Tax Management in Tally — Tally ERP 9 Notes –
GST Goods and Service Tax (गुड्स एवं सर्विस टैक्स)
16Tally Shortcut Keys – Tally ERP 9 Notes (Tally Full Course in hindi)
17Reports – Profit & Loss A/C, Balance Sheet, Stock, Trial Balance sheet
18Backup and Restore in tally ERP 9 Notes in hindi – Tally Prime
19Printing in tally – Print Setup
20Cheque Printing in Tally कैसे करे, Print Configuration हिंदी में.
21Provision (प्रावधान) क्या है?,Provision एंट्री टैली में कैसे किया जाता है।
22Bank Reconcilition क्या है और टैली में बैंक समाधान विवरण कैसे करते है।
23Payroll (पेरोल) क्या है और टैली में कैसे बनाये?
24POS क्या है और टैली में POS Invoice कैसे बनाये?
25F11 Features
26F12 Configuration
27Tally erp 9 Practice Book pdf free Download hindi
28Tally Online Test in Hindi
Tally Full Course in Hindi

Conclusion

दोस्तों बिना रूल्स और रेगुलेशन से एकाउंटिंग का कार्य करना मुश्किल है और जहा तक बात है 3 Golden Rules of Accounting in Hindi का इस रूल में गोल्डन लिखा हुआ तो आप अंदाजा लगा सकते है की यह रूल्स कितना महत्वपूर्ण, 3 Golden Rules of Accounting के जानकारी के अभाव में अकाउंट का कार्य नही किया जा सकता है, इसलिए आपको यह रूल्स आना ही चाहिए.

दोस्तों आपको यह 3 Golden Rules of Accounting in Hindi With Examples जानकारी कैसा लगा, आप हमें निचे कमेंट करके जरुर बताये और आप हमारे वेबसाइट को Home पेज में जा कर सब्सक्राइब कर सकते है और आप हमारे Telegram Channel में भी जुड़े जिससे आपको लेटेस्ट Notification मिलता रहेगा साथ ही साथ आप इसे WhatsApp, Facebook सोशल मीडिया प्लेटफार्म में शेयर कर सकते है.

11 thoughts on “3 Golden Rules of Accounting in Hindi 3 सुनहरे नियम PDF Download Free”

Leave a Comment